Mutual Funds क्या है ?

Spread the love

म्यूच्यूअल फंड क्या है?

म्यूच्यूअल फंड क्या है?
mutual funds  (Image Credit: Google.com)

नमस्ते दोस्तों हम सब ने शेयर मार्केट के बारे में सुन रखा है शेयर मार्केट में कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं शेयर मार्केट के बारे में कुछ लोग बोलते हैं कि यह जुआ खेलने की तरह है |

किसी को मुनाफा होता है तो किसी को नुकसान इसलिए बहुत सारे मिडिल क्लास लोग, मजदूर शेयर मार्केट से दूर रहते हैं, क्योंकि ना तो उनके पास बड़ी मात्रा में धन होता है और ना ही उन्हें शेयर मार्केट के बिजनेस की जानकारी होती है | 

इस समस्या को दूर करने के लिए बड़ी-बड़ी कंपनियों , उद्योग घरानों तथा बैंकों ने एक प्रकार का वित्तीय वाहन बनाया है जिसे म्यूच्यूअल फंड कहते हैं |
म्यूच्यूअल फंड क्या है :- म्यूच्यूअल फंड में कोई भी निवेश कर सकता है , छोटे निवेशक जिनको प्राप्त ज्ञान नहीं होता है शेयर मार्केट का तथा बड़ी मात्रा में धन भी नहीं होता है| वे लोग म्यूच्यूअल फंड में मासिक , त्रैमासिक तथा वार्षिक,  किसी प्रकार से एक किस्त तय कर निवेश कर सकते हैं | 

म्यूच्यूअल फंड में एक फंड मैनेजर होता है | फंड मैनेजर तय करता है कि फंड को कहां-कहां निवेश करना है | म्यूच्यूअल फंड में कई निवेशकों से एकत्रित किए गए धन को किसी एक कंपनी में निवेश ना कर,  बहुत सारी कंपनियों तथा अन्य परिसंपत्तियों और बोंडों में निवेश किया जाता है | 

फंड मैनेजर अधिक से अधिक लाभ हो उन स्टोकों तथा बॉन्ड में निवेश करते हैं | इसमें प्रत्येक शेयर धारक को लाभ अथवा हानि समान मात्रा में होती हैं |इस निवेश में म्यूचुअल फंड मैनेजर की एक निश्चित फीस होती है जो हमें अदा करनी होती है |

म्यूचुअल फंड निवेश में आप उस म्यूच्यूअल फंड की एक यूनिट या शेयर खरीद रहे होते हैं, उस यूनिट के मूल्य का धन बहुत सारे बॉन्डो या वित्तीय प्रतिभूतियों के शेयरों में थोड़ा-थोड़ा लगाया जाता है अर्थात आप उस मिचल फंड की एक यूनिट के माध्यम से बहुत सारी कंपनियों में निवेश करते हैं , जो आप स्वयं अकेले नहीं कर सकते हैं |

शेयर की कीमत को नेट ऐसेट वैल्यू (NAV) प्रति शेयर के रूप में लिखते हैं | एक म्यूच्यूअल फंड एक साल के दौरान फंड निवेशकों को लाभांश का वितरण करता है | 


और यह भी पढ़े :



म्यूचल फंड के प्रकार
१. Equity funds :- यह शेयर मार्केट में निवेश करते हैं  

२. Debt funds :- यह फंड कंपनी की डिबेंचर , सरकारी बॉन्डो तथा निश्चित आय से संबंधित क्षेत्रों में निवेश करते हैं |

३.Money market funds :-  इस प्रकार के फंड लिक्विड इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं इसमें तत्काल रिटर्न मिलता है |

४. Index funds :- यह फंड एक्सचेंज पर किसी खास इंडेक्स को प्रतिनिधित्व करने वाले इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं |

५. Balanceed funds :- यह फंड स्टॉक , बांड , मनी मार्केट में निवेश करते हैं |

६. Income funds :- यह फंड फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं |

७. Funds of  funds :- यह फंड अन्य म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं |

८. Specialty funds :- यह फंड एक सर्वव्यापी श्रेणी है |यह फंड अर्थव्यवस्था के एक निश्चित लक्ष्य से संबंधित सेक्टर जैसे हेल्थ , प्रौद्योगिकी आदि में निवेश करते हैं |

म्यूच्यूअल फंड के लाभ

*म्यूचुअल फंड में विविध प्रकार के सेक्टर में एक साथ निवेश करते हैं जिससे नुकसान होने के चांस बहुत कम होते हैं |

* म्यूचुअल फंड में निवेश करना बहुत आसान है | प्रोफेशनल लोगों द्वारा हमारे निवेश का ध्यान रखा जाता है जिससे जहां अधिकतम लाभ तथा कम हानि हो वहां धन का निवेश किया जाता है |

* म्यूचल फंड विदेशी व घरेलू निवेश के लिए अवसर प्रदान करते हैं जो आम निवेशक आसानी से नहीं कर सकता है |

* म्यूचुअल फंड में निवेश में पारदर्शिता होती हैं आप अपने निवेश के बारे में सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

म्यूचुअल फंड के नुकसान

म्यूचल फंड में यह नहीं है कि हमेशा लाभ भी होगा इसमें भी कमियां है |  
* निवेश पर रिटर्न उतार-चढ़ाव भरा होता है |

* इसमें बहुत सारा धन बिना निवेश के केवल केस के रूप में रहता है क्योंकि अपने निवेशकों को हर दिन कुछ धन वापस देना होता है |

* म्यूच्यूअल फंड की प्रबंधन की शुल्क बहुत ज्यादा है चाहे लाभ और हानि प्रबंधकों की फीस के रूप में धन देना ही पड़ता है जो ऊंची लागत है |

* म्यूचुअल फंड निवेश पर कैपिटल – गेन टैक्स लगता है|

 म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश करें

म्यूचुअल फंड में निवेश करना बहुत आसान है | म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले उसका उद्देश्य स्पष्ट होना चाहिए जैसे बच्चे की शिक्षा, घर खरीदने के लिए, बेटी की शादी आदि बाजार में उपलब्ध सभी म्यूच्यूअल फंड के बारे में पूर्ण जानकारी लेकर फिर उचित का चयन कर फिर निवेश करें |

म्यूच्यूअल फंड में निवेश कई तरीकों से कर सकते हैं |
.म्यूच्यूअल फंड कंपनी के ऑफिस में जाकर ऑफ-लाइन फॉर्म भरकर अपना पहचान पत्र , address proof , पासपोर्ट साइज की फोटो लगाकर जमा कराएं |

. ब्रोकर के माध्यम से निवेश करने में ब्रोकर आपकी सहायता करेगा और आपके लिए उचित प्लान खोजेगा जो आपके लक्ष्य की पूर्ति करता हो | 
इसके लिए शुल्क के रूप में कुछ राशि आपसे लेगा 

.म्यूच्यूअल फंड कंपनियों की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर करे तथा KYC प्रक्रिया को पूर्ण करें| फिर आप निवेश कर सकते हैं | कंपनियों के एंड्राइड ऐप के माध्यम से भी में निवेश कर सकते हैं | 

इस प्रकार हमने जाना कि म्यूच्यूअल फंड क्या है तथा इसमें निवेश कैसे करते हैं |


Spread the love

Leave a Comment